What is Trijuti Rudraksha? Uses and Benefits

Trijuti-Rudraksha

रुद्राक्षों में एक बहुत ही अद्भुत रुद्राक्ष है त्रिजुटी रुद्राक्ष। प्राकृतिक रूप से जुड़े हुए तीन रुद्राक्षों को त्रिभंगी या त्रिजुटी भी कहा जाता है। साथ ही इस रुद्राक्ष को ब्रह्मा,विष्णु, महेश भी कहते है। यह रुद्राक्ष ब्रह्मा, विष्णु, महेश या त्रिदेवों का प्रतिनिधित्व करता है। यह ब्रह्मांड की मूलभूत विशेषताओं का प्रतीक है। यह एक ऐसा रुद्राक्ष है जो कई वर्षों में केवल एक बार उत्पन्न होता है। यह रुद्राक्ष धारक की सभी मुश्किलों पर नियंत्रण करता है।

Trijuti-Rudraksha

त्रिजुटी रुद्राक्ष साक्षात ब्रह्मा, विष्णु और शिव का स्वरूप है। जो लोग इस महान रुद्राक्ष को धारण करते हैं या पूजन करते हैं उन्हें ब्रह्म ज्ञान की प्राप्ति होती हैं। त्रिजुटी रुद्राक्ष ब्रह्मांड की सभी विशेषताओं का प्रतीक हैं। इस रुद्राक्ष को धारण करने से शरीर में आंतरिक रोगों के साथ-साथ बाहरी रोंगो से भी मुक्ति मिलती है।

त्रिजुटी रुद्राक्ष को धारण करने के लाभ

  • त्रिजुटी रुद्राक्ष को पहनने से व्यक्ति को सुख और समृद्धि की प्राप्‍ति होती है।
  • इस रुद्राक्ष को धारण करने से मानसिक क्षमता में वृद्धि होती है।
  • त्रिजुटी रुद्राक्ष को धारण करने वाले व्‍यक्‍ति में एकाग्रता की कमी को दूर करता है।
  • नेतृत्‍व क्षमता में वृद्धि के लिए या राजनीति के क्षेत्र से जुड़े लोगों को त्रिजुटी रुद्राक्ष को धारण करने से लाभ पहुँचता है।
  • इस रुद्राक्ष को धारण करने से मनुष्‍य को अपने जीवन में सफलता प्राप्त होती है।

किसी भी जानकारी के लिए निचे दिए गए फॉर्म से अपनी डिटेल भेजे हम आपको संपर्क करेंगे ।