Kuber Puja in Hindi

Kuber Puja in Hindi

कुबेर जी को धन के देवता कहा जाता है। इनकी पूजा करने से धन संबंधित परेशानियां धीरे धीरे खत्म होने लगती है। सुख समृध्दि व मान सम्मान में लगातार बढोतरी होती रहती है। कुबेर जी का आशीर्वाद पाने के लिये जरुरी है। कुबेर जी की पुजा सही मूहुर्त में की जायें। वैसे तो कुवेर जी की पूजा नियमित रुप से करनी चाहिये। परन्तु धनतेरस के दिन पूरे विधि विधान के साथ कुबेर जी की पूजा करने से अति लाभ मिलती है।

Kuber Puja in Hindi

भागवान कुबेर जी की पूजा

कुबेर पूजा – 5 नवंबर 2018 (दिन – सोमवार)

प्रदोष काल का मूहुर्त

  1. कुबेर पुजा का शुभ मूहुर्त – शाम 06 बजकर 05 मिनट से लेकर रात 08 बजकर 01 मिनट तक
  2. कुल समय – 1 घंटा मिनट 56
  3. प्रदोष काल – प्रदोष काल शाम 05 बजकर 29 मिनट से लेकर रात 08 बजकर 07 मिनट तक है।
  4. वृषभ काल –वृषभ काल शाम 06 बजकर 05 मिनट से लेकर रात 08 बजकर 01 मिनट तक है।
  5. त्र्योदशी तिथि का आरांभ – 5 नवंबर 2018 को रात 1 बजकर 24 मिनट से
  6. त्र्योदशी तिथि का अंत – 5 नवंबर 2018 को रात 11 बजकर 46 मिनट समाप्त

पूजन सामाग्री

  1. चावल (थोडे से चावल)
  2. रोली
  3. दक्षिणा (11, 21, 51, 101, 501, 2001)
  4. कलश (एक)
  5. नारियल (एक)
  6. एक लाल रंग की चुनरी
  7. चीनी
  8. कपूर (एक पैकेट)
  9. घी
  10. दीया
  11. बत्ती
  12. पूजा की थाली
  13. चन्दन
  14. इत्र
  15. कलश
  16. फूल
  17. फूलमाला (2)
  18. पान के पत्ते (5)
  19. कलावा (एक)
  20. हल्दी
  21. कुबेर जी की प्रतिमा (कुबेर जी बैठे हुये हो उस प्रतिमा)

कूबेर जी की पूजा के लाभ

  1. धनतेरश के दिन कूबेर जी की पूजा करने से अति लाभ होता है। धन की वृध्दि लगातार होती रहती है।
  2. कूबेर जी की कृपा आप पर हमेशा बनी रहेगी।