Kamakhya Jal in Hindi

Kamakhya Jal Puja Vidhi

कामाख्या जल क्या है?

कामाख्या जल एक बहुत ही पवित्र ही पूजा सामग्री है जो की कामाख्या मंदिर से प्राप्त होता है, यह जल माता कामाख्या की योनि रूपा मूर्ति से निकलता है और पूजा अर्चना के बाद इस जल को भक्तो को प्रसाद के रूप में दिया जाता है।

यह पवित्र जल वर्ष में सिर्फ एक बार प्राप्त होता है जून के महीने में जब मंदिर के कपाट तीन दिनों के लिए बाद करके चौथे दिन दर्शन के लिए खोले जाते हैं।

इस सिन्दूर के बहुत सरे प्रयोग हैं और यह अत्यंत लाभकारी सिन्दूर माना गया है।

कामाख्या जल के क्या फायदे हैं?

यदि आप पवित्र कामाख्या जल का प्रयोग या पूजन करते हैं आपको निम्न लाभ प्राप्त होते हैं :

  • किसी भी पूजा सामग्री या वास्तु को सर्व शुद्ध और सिद्ध करने के लिए कामाख्या जल का प्रयोग किया जाता है
  • महिलाओ को पीरियड्स सम्बंधित समस्या में कामाख्या जल का पूजन और स्पर्श बहुत ही लाभकारी होता है
  • आपको अगर कोई भी तव्चा की बीमारी हो तो इस जल के प्रयोग से ये समस्या दूर होती है
  • किसी भी अन्य विकार या रोग के निवारण के लिए कामाख्या जल बहुत ही लाभदायक होता है
  • किसी भी पूजा पाठ के लिए स्थान की शुद्धि कामाख्या जल से करने से इच्छित कार्य सफल होता है
  • गृह प्रवेश, या कोई नई वास्तु घर में लाने से पहले कामाख्या जल से शुद्धि करने से ये नष्ट नहीं होती और आयु बढ़ जाती है
  • संतान प्राप्ति की समस्या में भी कामाख्या जल बहुत ही लाभकारी होता है
  • घर या ऑफिस में समय -समय पर कामाख्या जल का छिड़काव करने से हर प्रकार की नकारात्मक ऊर्जा का विनास होता है तथा सकारात्मक ऊर्जा का प्रवाह होता है,
  • इसका पूजन करने से आपका आत्मविश्वास बढ़ता है तथा आपको प्रतिष्ठित बनाता है,
  • रिलेशनशिप या प्यार की हर परेशानी में इसका उपयोग करने से समस्या बहुत जल्द समाप्त हो जाती है,
  • इसका पूजन करने से हर प्रकार की बाधा जो आपके सुख, समृद्धि में आ रही होती है दूर हो जाती है
  • कामाख्या जल का संपूर्ण कामाख्या किट के साथ प्रयोग करने से आश्चर्यजनक फल प्रपात होते हैं
  • इत्यादि।

Kamakhya Jal in Hindi

कामाख्या जल प्रयोग और पूजन करने की विधि

  • कामाख्या जल का प्रयोग सिर्फ शुक्रवार या सोमवार को की करें
  • सर्वप्रथम स्नान करके अपने घर के मंदिर के सामने बैठ जायें और लाल कपड़ा बिछा कर कामाख्या जल को रख दें,
  • अब कामाख्या जल को अंगूठे और अनामिका अंगुली की सहायता से कामाख्या मंत्र का जाप करते हुए सात बार छिड़के,
  • फिर इसको तिलक करें और कामाख्या माँ का ध्यान करें
  • अगर किसी रोग या विकार के लिए प्रयोग कर रहे हैं तो इस जल का लेप कर सकते हैं
  • अगर किसी स्थान की शुद्धि करनी है तो उस स्थान पर कामाख्या जल को छिड़क दें
  • आप इस जल को गंगा जल के साथ मिलकर नित्य प्रयोग कर सकते हैं,
  • अगर किसी स्थान पर ऊपरी बाधा हो या भूत प्रेत की समस्या हो तो कामाख्या जल को पूजा करने से बाद वहाँ पर सात बार छिड़क दें
  • कामाख्या जल को अपने मंदिर में स्थापित कर के इसके ऊपर चुन्नी लपेट कर और जैसे जरुरत हो वैसे प्रयोग करें

कामाख्या जल का मंत्र

निचे दिए गए मंत्र का जाप कामाख्या जल का प्रयोग करते समय एक माला करें :

“शुकादिनांच्ज यज ज्ञानं यमादि परिशोधितम ।

तदेव द्रवरुपेण कामाख्या योनिमण्डले ।।”

कामाख्या जल को कैसे प्राप्त करें ?

  • यदि आप भारत में ही हैं तो आप इसको दो तरीको से प्राप्त कर सकते हैं, पहला इसकी कीमत हमारे अकाउंट में डलवा कर दूसरा लिंक द्वारा अपने एटीएम, नेट बैंकिंग या क्रेडिट कार्ड से पेमेंट कर के ।
  • कामाख्या जल को हम किसी दूसरे देश में नहीं भेज सकते।

किसी भी जानकारी के लिए निचे दिए गए फॉर्म से अपनी डिटेल भेजे हम आपको संपर्क करेंगे ।