Kali Sadhana

Kali Sadhana

देवी काली साधना 

हम आप को माँ काली की साधना के बारे में बता रहे है। दस महाविद्या में माँ काली महाविद्या प्रथम ,महत्वपूर्ण और अदुत्य कही गई है। तंत्र शास्त्रों के अनुशार माँ काली की साधना से ही जीवन की समस्त कामनाओ की पूर्ति और मनोवांछित फलो की प्राप्ति सम्भव होती है।

देवी काली को मां दुर्गा की दस महाविद्याओं मे से एक मानी जाती हैं। देवी काली शक्ति का स्वरूप है, मां ने यह काली रूप दैत्यों के संहार के लिए लिया था ।

Kali Sadhana

इनकी उत्पत्ति राक्षसों का अंत करने के लिए हुई थी तथा धर्म की रक्षा और उसकी स्थापना ही इनकी उत्पत्ति का कारण था। देवी काली काल और परिवर्तन की देवी मानी गईं हैं। तंत्र साधना में तांत्रिक देवी काली के रूप की उपासना किया करते हैं।

देवी काली को भवतारणी अर्थात ‘ब्रह्मांड के उद्धारक’ रूप में प्रतिष्ठित किया जाता है। तंत्र साधना में देवी काली की उपासना सर्वोत्कृष्ट है इनसे संपूर्ण अभिष्ट फल की प्राप्ति होती है।

देवी काली की साधना से लाभ :

  • इस साधना से व्यक्ति समस्त रोगो से मुक्त होकर पूर्ण सवस्थ हो जाता है।
  • यह साधना जीवन से समस्त भोगो को दिलाने में समर्थ है।
  • इस साधना से साधक मृत्यु को जित कर पूर्ण निर्भय हो जाता है।
  • इस साधना की सिद्धि से साधक तुरंत आर्थिक लाभ और प्रबल पुरुषार्थ की प्राप्ति करता है।
  • शत्रुओ पर विजय प्राप्त करने के लिए या मुकदमा में सफलता प्राप्ति लिए ये साधना सबसे महत्व पूर्ण है।

माँ काली को प्रसन्न करने और उनका आशीर्वाद लेने के लिए नियमित रूप से इस की मंत्र पढ़ना चाहिए। सबसे अच्छे परिणाम प्राप्त करने के लिए सुबह स्नान के बाद ,देमाँ काली की मूर्ति या तस्वीर के सामने इस मंत्र को पढ़ना चाहिए।

काली साधना मंत्र 

“ॐ क्रीं क्रीं क्रीं दक्षिणे कालिके क्रीं क्रीं क्रीं स्वाहाः”

काली साधना करने के लिए आप हमसे संपर्क कर सकते है या ऊपर दी गई ईमेल आईडी पर ईमेल कर सकते है।