Kali Puja in Hindi

Kali Puja in Hindi

माता काली की पूजा दिवाली के दिन करने से बहूत लाभ होता है। माता काली सभी प्रकार की नकारात्मक ऊर्जा का नाश करती है। वे अपने भक्तों पर काफी मुसीबत नहीं आने देती है। अपनी कृपा दृष्टि हमेशा अपने भक्तो पर बनाये रखती है।

Kali Puja in Hindi

माता काली पूजा

काली पूजा – 6 नवंबर 2018 (मंगलवार)

पूजन का शुभ मुहुरत

  1. काली पूजा का शुभ मुहुर्त – रात 11 बजकर 38 मिनट से लेकर रात 12 बजकर 31 मिनट तक
  2. कुल समय – 53 मिनट
  3. आमावस्या तिथि का आरांभ – 6 नवंबर को 10 बजकर 27 मिनट से
  4. आमावस्या तिथि का अंत – 21 नवंबर 2018 को 9 बजकर 31 मिनट पर

पूजन सामाग्री

  1. माता काली की एक प्रतिमा
  2. पुजा करने के लिये लकडी का पटा (एक)
  3. 21 दिये और एक बडां दिया
  4. मोमबत्ती (दो पकैट)
  5. अगरबत्ती (एक पकैट)
  6. धूप (एक पकैट)
  7. कपूर (3 से 4)
  8. हवन सामाग्री ( एक बड़ा पकैट)
  9. लौंग (3 से 4)
  10. इत्र
  11. सुपारी ( 3 से 4)
  12. पान ( एक )
  13. रोली ( एक पकैट )
  14. कलावा ( एक )
  15. कलश (एक)
  16. गंगाजल (छोटी बोतल)
  17. पुष्पमाला
  18. केले (3)
  19. पीतल की थाल (एक )
  20. घी (छोटा पकैट)
  21. बत्ती (छोटा पकैट)
  22. चावल (थोडे से)
  23. हल्दी (थोडी सी)
  24. रंगोली बनाने के लिये रंग (दो – दो चम्मच)
  25. पान के पत्ते (5)
  26. दक्षिणा (11 रुपये)
  27. चन्दन (थोडा सा)
  28. इलायची (3 से 4)
  29. नारियल (एक)
  30. नैवेघ
  31. लाल रंग का कपडा (एक)
  32. आरती की किताब
  33. मिठाई

काली पुजन के लाभ

  1. काली माता की पूजा करने से नकारात्मक ऊर्जा का नाश होता है।
  2. दुश्मनों पर विजय प्राप्त होती है।
  3. घर में चल रहे परिवारिक कलह पर रोक लग जाती है।