Diwali Puja in Hindi

Diwali

दीवाली इस साल 07 नवंबर 2018 को बुधवार को पड रही है। इस दिन माता लक्ष्मी, भगवान गणेश व कुबेर जी की पुजा की जाती है। अगर दीवाली पुजा शुभ मुहूर्त पर की जाये तो साल भर अत्यंत लाभ होता है। आइये जानते है दीवाली मुहूर्त के बारे में विस्तार से –

प्रदोष काल मुहूर्त –

  1. दीवाली लक्ष्मी पुजन मुहूर्त – शाम 05 बजकर 57 मिनट से लेकर रात 07 बजकर 53 मिनट तक I
  2. प्रदोष काल – शाम 05 बजकर 27 मिनट से लेकर रात 08 बजकर 06 मिनट तक I
  3. वृषभ काल – शाम 05 बजकर 57 मिनट से लेकर रात 07 बजकर 53 मिनट तक I
  4. अमावस्या तिथि शुरु – 06 नवंबर 2018 को मंगलवार को रात 10 बजकर 27 मिनट से आरंभ I
  5. अमावस्या तिथि समाप्त – 07 नवंबर 2018 को बुधवार रात 09 बजकर 31 मिनट पर समाप्त I
Diwali

Diwali

महा निशित काल मुहूर्त –

  1. दीवाली महालक्ष्मी पुजा मुहूर्त –
  2. कुल समय :
  3. महानिशिता काल – रात 11 बजकर 38 मिनट से लेकर 00 बजकर 31 मिनट तक I
  4. सिमहा काल – रात 00 बजकर 28 मिनट से लेकर रात 2 बजकर 45 मिनट तक I

चौघड़िया पुजा मुहूर्त –

चौघड़िया पुजा मुहूर्त दिवाली लक्ष्मी पुजन के लिये सबसे पवित्र माना जाता है।

  1. सुबह का मुहूर्त (लाभ, अमृत) – प्रात काल 06 बजकर 41 मिनट से लेकर 09 बजकर 23 मिनट तक I
  2. सुबह का मुहूर्त (शुभ) – सुबह 10 बजकर 44 मिनट से लेकर 12 बजकर 05 मिनट तक I
  3. दोपहर का मुहूर्त ( अमृत , चार- लाभ) – दोपहर के 02 बजकर 46 मिनट से लेकर शाम 05 बजकर 28 मिनट तक I
  4. शाम का मुहूर्त (शुभ-अमृत , चार ) – शाम 07 बजकर 07 मिनट से लेकर रात 9 बजकर 31 मिनट तक I

दीवाली की पुजन सामाग्री –

  1. एक लक्ष्मी व गणेश की प्रतिमा
  2. पुजा करने के लिये पटा (एक)
  3. कुबेर जी की प्रतिमा (एक)
  4. 21 दिये और एक बडां दीवला
  5. मोमबत्ती (दो पकैट)
  6. खील (आधा किलो)
  7. बताशे (250 ग्राम)
  8. अगरबत्ती (एक पकैट)
  9. धूप (एक पकैट)
  10. कपूर (3 से 4)
  11. हवन सामाग्री ( एक बड़ा पकैट)
  12. लौंग (3 से 4)
  13. सुपारी ( 3 से 4)
  14. पान ( एक )
  15. रोली ( एक पकैट )
  16. कलावा ( एक )
  17. कलश (एक)
  18. गंगाजल (छोटी बोतल)
  19. केले (3)
  20. पीतल की थाल (एक )
  21. घी (छोटा पकैट)
  22. बत्ती (छोटा पकैट)
  23. चावल (थोडे से)
  24. हल्दी (थोडी सी)
  25. रंगोली बनाने के लिये रंग (दो – दो चम्मच)
  26. पान के पत्ते (5)
  27. खिलाने (250 ग्राम)
  28. दक्षिणा (11 रुपये)
  29. चन्दन (थोडा सा)
  30. इलायची (3 से 4)
  31. नारियल (एक)
  32. नैवेघ
  33. लाल रंग का कपडा (एक)
  34. आरती की किताब
  35. मिठाई

दीवाली पुजन के लाभ –

  1. दीवाली पुजन पुरे विधि विधान से करने से व्यापार में वृध्दि होती है। अगर आप इस दिन अपने किसी नये काम का शुंभराम्भ करते है तो वह काम सदैव प्रगति करेगा।
  2. जिन लोगों के घर में धन संबंधित परेशानी लगातार चल रही है। उन्हे शुभ मुहूर्त में ही दीवाली पुजन करना चाहिये। इससे धन संबंधित सभी प्रकार की परेशानियां से धीरे धीरे मुक्ति मिलने लगती है।
  3. घर में से नकारात्मक ऊर्जा का नाश होने लगता है।
  4. घर में सुख शांति का वाश होता है।
  5. इस दिन गाय को अपने हाथों से भोजन खिलाने से घर के अन्न भण्डार कभी खाली नही होते है।

धनतेरस, दिवाली या लक्ष्मी पूजा के बारे में किसी भी अन्य जानकारी के लिए हमसे संपर्क करें इस नंबर पर (+919818543616) या फिर हमें भेजे अपनी डिटेल्स हम आपको स्वयं संपर्क करेंगे।