Chamunda Puja in Hindi

Chamunda Puja in Hindi

माता चमुन्दा माता दूर्गा के नौ रुपों में से एक है। माता चमुन्दा की पूजा उन दिन करते है जिस दिन अष्टमी तिथि समाप्त और नवमी तिथि का शुभारम्भ होता है। इस पुजा से बहूत सारे लाभ होते है। अगर आप अपनी जिन्दगी में बहूत परेशान है तो इस पूजा को पुरे विधि विधान से करने पर आपको बहूत लाभ होगा।

Chamunda Puja in Hindi

माता चामुंडा पूजा

चमुन्दा पूजा – 17 अक्टूबर 2018 (बुधवार)

आइये जानते है चमुन्दा पूजा के शुभ मूहुर्त के बारे में

  1. पूजन का शुभ मुहुर्त – दोपहर 12 बजकर 25 मिनट से लेकर 1 बजकर 13 मिनट है
  2. कुल समय – 48 मिनट

चमुन्दा की पूजन सामाग्री

  1. माता चमुन्दा की प्रतिमा (1)
  2. धी (एक पैकेट)
  3. दिया (एक बड़ा)
  4. अगरबत्ती
  5. धूप
  6. नारियल (एक)
  7. एक चुनी लाल रंग की
  8. एक कलावा
  9. रोली
  10. चावल (थोडे से)
  11. हल्दी
  12. कलश
  13. गंगाजल
  14. हवन सामाग्री (एक बडा पैकेट)
  15. नया लाल रंग का कपड़ा (एक)
  16. लौंग (3 से 4)
  17. मिठाई
  18. चन्दन (एक छोटा पकैट)
  19. पान (2)
  20. सूपारी (3 से 4)
  21. केले(3 से 4)
  22. इत्र ( थोडा सा )
  23. इलायची (2 से 3)

चमुन्दा की पुजा का लाभ

  1. माता चमुन्दा की कृपा दृष्टि हमेशा आप पर बनी रहती है।
  2. माता चमुन्दा अपने भक्तजनों की हर मनोकामना पूरी करती है।
  3. अपनी हर परेशानी को दूर करेगी।
  4. मान सम्मान में लगातार बढोतरी होगी।
  5. अपनी तिजोरी कभी खाली नही होगी।
  6. सकारात्मक ऊर्जा का आह्रबान होगा।
  7. स्वस्थ्य संबंधित परेशानी से भी निजात मिलेगी।
  8. संतान की प्राप्त होती है।
  9. घर में सुख शांति का आह्रवान होता है।
  10. अन्न के भण्डार हमेशा भरे रहते है।

अगर आप भी माता चमुन्दा का आशीर्वाद पाना चाहते है तो जरुर इस पुजा को करे।