1 Mukhi Rudraksa

one mukhi rudraksha

एकमुखी रूद्राक्ष 

एक मुखी रुद्राक्ष सबसे महत्वपूर्ण और कल्याणकारी रुद्राक्ष माना जाता है। एक मुखी को साक्षात भगवान शिव का स्वरुप मानते हैं।  एकमुखी रुद्राक्ष का सतारुढ़ ग्रह सूर्य है, इसको धारण करने से व्यक्ति के समस्त दुखों एवं पापों का शमन होता है एवं व्यक्ति शांति एवं सुख प्राप्त होता है.

एक मुखी रूद्राक्ष के लाभ : –

  • एक मुखी रुद्राक्ष धारण करने से पापों से मुक्ति मिल जाती है और मन शांत हो जाता है।
  • घर में धन का आगमन भी होने लगता है।
  • शत्रु पे विजय प्राप्त होता है।
  • एक मुखी रुद्राक्ष का उपयोग करने से नेत्रों की ज्योती तीव्र होती है. सिरदर्द , हृदय रोग , नजर दोष ,उदर संबंधी रोग जैसी अनेक व्याधियों से छुटकारा मिलता है।

एक मुखी रुद्राक्ष का मंत्र :-

ॐ नमः ह्रीम”

one mukhi rudraksha

रुद्राक्ष धारण करने की विधि और पूजा : –

सर्वप्रथम रुद्राक्ष की माला या रुद्राक्ष, जो भी आप धारण करना चाहते हैं, उसें शुक्ल पक्ष में सोमवार के दिन धारण करें।

रुद्राक्ष को गंगाजल, दूध से स्नान कराएं तथा “ॐ नमः शिवाय” इस पंचाक्षर मंत्र का जाप करते रहें. शुद्ध करके इस चंदन, बिल्वपत्र, लालपुष्प अर्पित करें तथा धूप, दीप  दिखाकर पूजन करके अभिमंत्रित करे।.

रुद्राक्ष को शिवलिंग से स्पर्श कराकर पूर्व या उत्तर की ओर मुख करके मंत्र जाप करते हुए इसे धारण करें।

Fill This Query Form for Call Back

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *